Follow my blog with Bloglovin

आईटीआई करने के बाद क्या करें?

एक बार आपने ITI कर लेने के बाद क्या करें? ये सवाल सभी students के मन में जरुर आया होगा. ऐसा इसलिए क्यूंकि ITI के बारे में तो सभी को पता ही है, वहीँ ये भी पता है कौन से trades हैं जो की उनके लिए सही है. लेकिन ये कोई भी नहीं बताता की ITI के बाद क्या कर सकते है?

मुझे तो लगता है की ITI के बाद क्या करें, सबसे महत्वपूर्ण सवाल है. ऐसा इसलिए क्यूंकि यदि आपको अपना लक्ष्य ही पता न हो तब उसके निकट पहुँच कर भी आपको ये आभास नहीं होगा की आप उसके समीप पहुँच चुके हैं.

वहीँ ITI course कर लेने के बाद ऐसे बहुत से विकल्प मेह्जुद हैं जिन्हें की कोई बताता ही नहीं है जिसके चलते छात्रों को ये पता ही नहीं होता है की वो ITI के उपरांत क्या विकल्प अपने लिए चुन सकते हैं.

इसलिए आज मैंने सोचा की क्यूँ न आप लोगों को ITI के बाद क्या करना चाहिए, कौन से विकल्प का चुनाव करें उसके बारे में पूरी जानकारी प्राप्त करें जिससे आपको आगे चलकर ये tension न हो आपके सामने कौन से विकल्प मेह्जुद हैं. साथ ही आप अपने लिए सबसे बेहतर विकल्प का चुनाव करें. तो भीर बिना देरी किये चलिए शुरू करते हैं.

आईटीआई क्या होते है?

आईटीआई का Full form होता है Industrial Training Institute. ये ITI ऐसे Government training institute होते हैं जो की students को industry सम्बंधित training प्रदान करते हैं. वहीँ सबसे बढ़िया बात ये की students, अपनी higher secondary school के पढाई के बाद ही कुछ trades के लिए apply कर सकते हैं.

वहीँ कुछ तो आठवीं की पढाई के बाद भी ITI की पढाई कर सकते हैं अपने आपको स्वावलंबी बनाने के लिए. वहीँ ये institutes को specially establish किया गया है technical knowledge प्रदान करने के लिए students जो जिन्होंने की हाल ही में ही 10th (दसवीं) की पढाई पूर्ण करी है, वहीँ जो चाहते हैं की कोई technical knowledge प्राप्त करना, higher studies को pursue करना. यहाँ से आप ITI कैसे करें जान सकते है.

आईटीआई ट्रेड किन्हें कहते हैं?

ITI में पढाये जाने वाले courses को “trades” कहा जाता है. उदाहरण के लिये, Electrician, Fitter, Mechanic Tractor, RAC इत्यदि.

वहीँ ITI के courses की अवधि 6 महीने से लेकर 2 वर्षों तक की होती है. जिसमें 4 semesters शामिल होते हैं. ITI course में विद्यार्थियों को training प्रदान किया जाता है बहुत से industries के लिए जैसे की Mechanical, Electronics, Information Technologies, Fabrication, Automobile, Diesel Mechanics, Lift Mechanics, Computer Software, Sheet metal, Electrical, Plumbing, Wire man इत्यादि.

ITI के बाद क्या करे?

चलिए अब इस सवाल “आईटीआई के बाद क्या करे” का जवाब ढूंडते हैं. वैसे तो ITI के बाद एक स्टूडेंट के सामने बहुत से अलग अलग विकल्प मेह्जुद होते हैं. वहीँ उन्हें इनमें से अपने लिए सही विकल्प चुनना होता है. चलिए उन सभी विकल्पों के बारे में जानकारी प्राप्त करते हैं.

1. Apprenticeship

Apprenticeship का मतलब होता है एक प्रकार का specialized training. एक बार आपने ITI का course पूरा कर लेने के बाद आप सबसे पहले अपने trade की Apprenticeship कर सकते हैं.

चूँकि ये एक प्रकार का specialized training होता है, इसलिए इसे करने पर students को industry में हो रहे काम करने के विधि के बारे में पता चल जाता है. इससे उन्हें live industry exposure मिल जाता है.

2. Job

ITI diploma Course एक बार आप खत्म कर लेने के बाद, आप अपने लिए कोई बढ़िया सा Job भी चुन सकते हैं.

जॉब्स कहने का मेरा तात्पर्य ये है की आप या तो Private Jobs कर सकते हैं या फिर Government Jobs (सरकारी जॉब). ये पूरी तरह से आपके ऊपर निर्भर करता है आप सरकारी नौकरी करना चाहते हैं या फिर Private नौकरी.

i. Govt. Job

सरकारी नौकरी में बहुत से जगहों में आप जॉब कर सकते हैं. जिनमें शामिल हैं

  • Indian Railways (Group D Posts) में नौकरी
  • Public Sector Units (SAIL, GAIL, BHEL etc…) में नौकरी
  • Government Departments/Ministries/PwD में नौकरी
  • Defense Sector में नौकरी

इसमें ये निर्भर करता है आप जिस trade में आईटीआई किये होते हैं उसी की अगर भर्ती निकलती है तब आप इसमें आसानी से apply कर सकते हैं.

ii. Private Job

प्राइवेट नौकरी में बहुत से जगहों में आप जॉब कर सकते हैं. जिनमें शामिल हैं,

  • इसमें आप Corporates, Companies, Hotels, Hospitals में (बतोर Electrician, Plumber, इत्यादि) के हिसाब से अपना योगदान दे सकते हैं.Public Sector Units (SAIL, GAIL, BHEL etc…) में नौकरी
  • वहीँ आप अपने trades के हिसाब से Industries में जॉब भी कर सकते हैं.
  • वहीँ आप चाहें तो खुद का एक बढ़िया सा Business भी खोल सकते हैं.

ये थी कुछ ऐसे विकल्प जिनका चुनाव आप ITI के बाद कर सकते हैं. वैसे अगर आपका यदि कोई सुझाव है या आप कोई सवाल पूछना चाहते हैं तब आप अपना सवाल नीचे comments में पूछ सकते हैं.

आईटीआई बनाने का मुख्य लक्ष्य क्या है?

प्रतिवर्ष बहुत से ITI काफी मात्रा में skilled manpower तैयार होते हैं जो की किसी भी प्रकार के industry के लिए उपयुक्त हो सकते हैं. देखा जाये तो इस प्रकार के institutes असल में किसी भी प्रकार के industry का backbone होते हैं, जिनका मूल उद्देश्य ही है की training प्रदान करना, जिससे की students को किसी भी field में “skilled” बना सकें.

Leave a Comment