निमन्त्रण पत्र का अभिप्राय स्पष्ट करते हुए विवाह के लिए निमन्त्रण पत्र का प्रारूप तैयार कीजिए। Explaining the meaning of the invitation letter, prepare the format of the invitation letter for marriage.

1
76

प्रत्येक व्यक्ति के जीवन में खुशियाँ मौज-मस्ती, बहार आती है। अतः यह उन खुशियों में अपने रिश्तेदारों, समाज बन्धुओं, मित्रों, अड़ोस-पड़ोस के निवासी आदि को सम्मिलित करता है। उस खुशी के अवसर पर यह विविध प्रकार के मांगलिक आयोजन करता है। इस मांगलिक आयोजन में समस्त सम्बन्धी/परिचित बड़े आनन्द के साथ सम्मिलित होते हैं।

किसी भी मांगलिक आयोजन में आमंत्रित अतिथितियों के लिये जो संदेशा लिखित या मौखिक दिया जाता है, उसे निमन्त्रण कहते हैं। लिखित निमंत्रण आमंत्रण कहलाता है। इस आमंत्रण में होने वाले आयोजन की विस्तृत जानकारी रहती है और विभिन्न व्यक्तियों को ससम्मान उस कार्यक्रम में सम्मिलित होने अथवा स्वल्पाहार, भोजन आदि करने के लिये आमंत्रित किया जाता है तथा आमंत्रितों में यह अपेक्षा की जाती है कि शुभकार्य में पधारकर शुभाशीष के अपेक्षितों को आशीर्वाद दें। अतः विविध शुभकार्य में आमंत्रित किये जाने वाले शुभाकांक्षों का आमंत्रण निमंत्रण पत्र कहलाता है।

उदाहरण

विवाह का निमन्त्रण श्री गणेशाय नमः

दिनांक 17 मई, 20…

मान्यवर बन्धु

भगवान की असीम अनुकम्पा से हमारे सुपुत्र चिरंजीवी शरद का विवाह दिल्ली निवासी भारतभूषण की आयुष्मती कन्या पूर्णिमा से आगामी 17 मई, 20 को होना निश्चित हुआ है। आपसे प्रार्थना है कि इस शुभ अवसर पर वर-वधु को आशीष प्रदान कर हमें अनुग्रहित करें।


Happiness comes in the life of every person, fun and outdoors. Therefore, it includes its relatives, social friends, friends, residents of the neighborhood etc. in those happiness. On that joyous occasion, it organizes various auspicious events. All relatives/acquaintances participate with great joy in this auspicious event.

The message which is given in written or oral for the guests invited in any auspicious event is called invitation. A written invitation is called an invitation. This invitation contains detailed information about the event to be held and various persons are invited to attend that program with respect or to have refreshments, food etc. and it is expected among the invitees that by coming to the auspicious work, the wishes of the good will be blessed. Give. Therefore, the invitation of well wishers to be invited in various auspicious works is called invitation letter.

Example

Marriage Invitation Shri Ganeshaya Namah

Dated May 17, 20…

dear brother

With the infinite grace of God, the marriage of our son Chiranjeevi Sharad has been fixed on May 17, 20 from Ayushman Kanya Purnima of Bharat Bhushan, a resident of Delhi. You are requested to bless us by blessing the bride and groom on this auspicious occasion.

1 COMMENT

  1. Good web site you have here.. It’s difficult to find
    good quality writing like yours nowadays. I truly appreciate people like you!
    Take care!!

    My site; Kerstin

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here