‘चाहिये’ क्रिया किस वाक्य संरचना में प्रयुक्त होती है ? उदाहरण सहित लिखिये। In which sentence structure is the verb ‘should’ used? Write with example.

0
127

उत्तर-भाषा के माध्यम से वक्ता या तो कुछ करने को कहता है या किसी बात को न करने के लिये कहता है। प्रथम प्रकार में विधि, आज्ञा, इच्छा, शक्यता आदि अनेक प्रकारों का समावेश होता है, द्वितीय प्रकार में निषेध का अन्तर्भाव है।

यद्यपि कुछ विद्वान विधि वाक्यों में व्यापक रूप से अनेक वृत्तियों को सम्मिलित करने के पक्ष में है, किन्तु शुद्ध विधि वाक्य का चिन्ह ‘चाहिये क्रिया है।

इन संरचनाओं को परिभाषित करते हुये कहा जा सकता है कि जिन वाक्यों को ‘चाहिये’ क्रिया, लिंग, वचन, पुरुष आदि से प्रभावित न होते हुये सदैव एक-सी प्रयुक्त होती हैं और जिसके पूर्व आने वाली क्रिया ‘न’ रूप वाली होती है, ऐसी वाक्य-संरचनायें विधि-सूचक संरचनायें कहलाती है।

1. हिन्दी में विधि-सूचक वाक्यों में ‘चाहिये क्रिया का प्रयोग होता है।

2. ‘चाहिये’ क्रिया की विशेषता है कि वह वदैव एक-सी रहती है। लिंग-वचन पुरुष आदि से प्रभावित नहीं होती।

उक्त परिभाषा के आधार पर विधि-सूचक वाक्यों की निम्नलिखित विशेषतायें निर्धारित की जा सकती हैं

3. इसी प्रकार ‘चाहिये’ से पूर्व आने वाली क्रिया भी ‘ना’ या ‘जी’ रूप वाली होती है

उदाहरण- 1. संयम और विवेक से काम करना चाहिये। 2. देश की रक्षा के लिये तन-मन-धन अर्पण करने के लिये तैयार रहना चाहिये।

3. शिक्षकों को पढ़ाना चाहिये और छात्रों को पढ़ाना चाहिये।

4. जानवरों पर दया करनी चाहिये।

5. दुष्टों पर क्रोध करना चाहिये। 6. नेताजी से बात करनी चाहिये।

7. हम में हिम्मत होनी चाहिये। 8. मुझे चाहिये कि सदैव प्रसन्न हूँ और क्रोध न करूँ।


Answer – Through language, the speaker either asks to do something or tells not to do something. In the first type, there are many types of law, order, will, ability etc., in the second type there is an implication of negation.

Although some scholars are in favor of including many verbs widely in law sentences, but the mark of pure law sentence is ‘should’ verb.

Defining these structures, it can be said that the sentences which are not affected by verb, gender, verb, man, etc., are always used in the same way and before which the verb that comes before is of the form ‘not’. Such sentence structures are called indicative structures.

1. The verb ‘should’ is used in imperative sentences in Hindi.

2. The specialty of the verb ‘should’ is that it always remains the same. Gender speech is not affected by male etc.

On the basis of the above definition, the following characteristics of lawful sentences can be determined.

3. Similarly, the verb that comes before ‘should’ is also of ‘no’ or ‘ji’ form.

Example- 1. One should work with restraint and discretion. 2. One should be ready to sacrifice body, mind and wealth for the defense of the country.

3. Teachers should teach and students should teach.

4. Animals should be compassionate.

5. One should be angry with the wicked. 6. Talk to Netaji.

7. We should have courage. 8. I should always be happy and should not be angry.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here