Home book authors Harivanshrai Bachchan

Harivanshrai Bachchan

Harivansh Rai Bachchan (né Srivastava; 27 November 1907 – 18 January 2003) was an Indian poet and writer of the Nayi Kavita literary movement (romantic upsurge) of early 20th century Hindi literature. He was also a poet of the Hindi Kavi Sammelan. He is best known for his early work Madhushala.

योग की शक्ति पाठ का मूल्यांकन अपने शब्दों में कीजिए ?...

उत्तर- मनुष्य हमेशा खुश रहना चाहता है। प्रत्येक व्यक्ति यह सोचता है कि काश उसके पास भी कोई जादू या चमत्कारिक शक्ति हो जिससे...

कवि हरिवंश राय बच्चन द्वारा रचित ‘योग की शक्ति’ पाठ के...

उत्तर-योग का हमारे जीवन में बहुत ही महत्व है। योग शब्द की उत्पत्ति संस्कृत के युज शब्द से हुई है; जिसका अर्थ होता है...

व्यक्तित्व विकास में योग शिक्षा का महत्व समझाते हुए योग के...

एक व्यक्ति का व्यक्ति व उनके दृष्टिकोण, राय, झुकाव और अन्य अद्वितीय व्यवहार विशेषताओं का कुल योग है जो स्वयं में निहित है। इन...

योग की शक्ति के आधार पर यम एवं नियम क्या है...

उत्तर-योग की शक्ति के आधार पर यम के पाँच प्रकार होते हैं- (1) अहिंसा, (2) सत्य, (3) स्तेय, (4) असंग्रह (5) ब्रह्मचर्य। (1) अहिंसा मनुष्य...

योग की शक्ति के आधार पर हरिवंश राय बच्चन जी ने...

उत्तर-योग की शक्ति के आधार पर हरिवंश राय बच्चन ने योग के तीन गुण बताये है (1) सत्य, (2) रज, (3) तम यदि हमने...

हरिवंश राय बच्चन की साहित्यिक परिचय दीजिए। Give a literary introduction...

जीवन परिचय-हरिवंश राय बच्चन का जन्म 27 नवंबर 1907 को गाँव बाबू पट्टी जिला प्रतापगढ़ उत्तरप्रदेश के एक कायस्थ परिवार में हुआ था। उनके...