अनुवाद क्या है ? और इसकी साहित्य में क्या उपयोगिता है ? समझाइये। What is translation? And what is its use in literature? explain.

0
131

अनुवाद का शाब्दिक अर्थ है-किसी के कहने के बाद कहना अथवा किसी कथन का अनुवर्ती कथन, पुनः कथन या पुनरुक्ति अर्थात् एक भाषा में कही हुई बात को दूसरी भाषा में कहना या बतलाना अनुवाद कहलाता है।

अनुवाद शब्द को अंग्रेजी में ट्रान्सलेशन (Translation) कहा जाता है। अंग्रेजी कोश के • अनुसार ट्रान्सलेशन का सीधा अर्थ है-एक भाषा के पाठ को दूसरी भाषा व्यक्त करना। इस सन्दर्भ में अंग्रेजी के प्रसिद्ध भाषाविद् जे. सी. केटफर्ड के अनुसार अनुवाद एक भाषा (स्रोत भाषा) की मूल पाठ-सामग्री का दूसरी भाषा (लक्ष्य भाषा) में समानार्थक (इक्विवेलेंट) मूल पाठ सामग्री का स्थानापन्न है।

इस प्रकार अनुवाद में तीन बातों का ध्यान रखना आवश्यक है (1) पाठ-सामग्री, (2) समतुल्य/समानार्थक (3) पुनर्स्थापना।

अनुवाद के स्वरूप-उपर्युक्त विवेचना के आधार पर अनुवाद को निम्नलिखित तीन रूपों के अन्तर्गत रखा जा सकता है

(1) शाब्दिक अनुवाद, (2) भावानुवाद, (3) रूपान्तर 1. शाब्दिक अनुवाद- इसमें मूल भाषा या स्रोत भाषा की शब्द योजना, वाक्य विन्यास आदि का दूसरी भाषा या लक्ष्य भाषा में लगभग ज्यों-का-त्यों अनुवाद किया जाता है। इसे शाब्दिक अनुवाद कहते हैं।

2. भाषानुवाद – इसमें मूल भाषा या स्रोत भाषा की शब्द योजना, वाक्य विन्यास आदि की दृष्टि में न रखकर शब्दों एवं वाक्यों में निहित मूल भाव पर विशेष ध्यान दिया जाता है और अनुवाद किया जाता है।

3. रूपान्तर- इसमें अनुवादक मूलभाषा या स्रोत भाषा के समस्त कथन को दूसरी भाषा या लक्ष्य भाषा में अनूदित करने के लिए उसमें यथेष्ट परिवर्तन कर देता है। इस प्रकार रूपान्तर करते समय अनुवादक की रुचि हावी हो जाती है।

अनुवाद के उद्देश्य-अनुवाद के प्रमुखतः तीन उद्देश्य हैं

(1) दूसरी भाषा के साहित्य से अपनी भाषा के साहित्य को समृद्ध करना ।

(2) दूसरी भाषाओं की शैलियों, मुहावरों, दार्शनिक तथ्यों, वैज्ञानिक एवं तकनीकी ज्ञान की प्राप्ति।

(3) विचार-विनिमय।


The literal meaning of translation is – to say after someone has said or to follow a statement, re-statement or repetition, that is, to say or tell what has been said in one language in another language is called translation.

The word translation is called translation in English. According to the English dictionary, translation simply means – to convey the text of one language to another language. In this context the famous English linguist J. According to C. Ketford, translation is the replacement of the original text material in one language (the source language) with the equivalent (the target language) of the original text material in another language (the target language).

Thus in translation it is necessary to take care of three things (1) textual content, (2) equivalent / synonym (3) restoration.

On the basis of the above discussion, translation can be kept under the following three forms.

(1) Verbal translation, (2) Translation, (3) Transliteration 1. Verbal translation – In this, the word scheme, syntax, etc. of the original language or source language are translated into another language or target language almost exactly . This is called literal translation.

2. Linguistics – In this, special attention is paid to the original meaning contained in words and sentences and not translated into the original language or the source language’s word plan, syntax, etc.

3. Transformation – In this, the translator makes sufficient changes in the original language or source language to translate all the statements in the other language or target language. In this way, the translator’s interest becomes dominant while doing the transformation.

Objectives of Translation – There are mainly three purposes of translation.

(1) To enrich the literature of one’s own language with the literature of another language.

(2) Acquisition of styles, idioms, philosophical facts, scientific and technical knowledge of other languages.

(3) Exchange of ideas.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here